Haryana

Sonali Phogat: सोनाली के घर आई गुमनाम चिट्ठी, हत्या का सौदा 10 करोड़ में होने दावा, एक नेता पर आरोप


Sonali Phogat
– फोटो : Social Media

ख़बर सुनें

भाजपा नेता सोनाली फोगाट के नाम उनके संत नगर स्थित आवास पर एक गुमनाम चिट्ठी भेजी गई है, जिसमें सोनाली के मर्डर का सौदा 10 करोड़ में होने का दावा किया गया है। मर्डर में एक पार्टी के नेता पर आरोप लगाया गया है।  
मृत सोनाली  के जेठ कुलदीप के नाम से यह चिट्ठी स्पीड पोस्ट से भेजी गई है।

हिंदी में टाइप कर भेजी गई इस चिट्ठी में हिंदी की काफी गलतियां हैं। सोनाली फोगाट को फोगट लिखा है। गुमनाम नाम ने आई इस चिट्ठी में कहा गया कि मुझे सोनाली जी की दुखद मृत्यु का बड़ा अफसोस है। खास कर सोनाली की बेटी जो पहले अपने पिता को खो चुकी हैं, उसके लिए यह मृत्यु असहनीय है। 

सोनाली के मर्डर के बारे में कुछ सूचित करना चाहता हूं। इस मर्डर के पीछे एक पार्टी के बड़े लीडर्स का हाथ है। सुधीर सांगवान केवल एक मोहरा हैं, जिसको मोटी रकम दे कर यह घिनौना काम करवाया गया है। एक स्थानीय नेता पार्टी के नाम पर चंदे की उगाही करता है। पार्टी को उसका पूरा हिसाब भी नहीं देता। एक पार्टी की टिकट के दावेदार इन नेता ने ही सोनाली के मर्डर का प्लान रचा है।

सुधीर को मोटे पैसे दिए गए हैं। इन लोगों को डर था कि सोनाली को आदमपुर से टिकट नहीं मिलता तो वो नेता को उजागर कर देंगी। उनकी लाइफ और नेतागिरी समाप्त हो जाएगी। इस कारण इन लोगों ने सोनाली को ही रास्ते से हटाने का प्लान बनाया। सोनाली के पीए सुधीर सांगवान को 10 करोड़ का ऑफर दिया, जिसके लिए सुधीर तैयार हो गया।

अगर उस नेता की कॉल डिटेल्स और उस द्वारा लिए पार्टी चंदे की पड़ताल की जाये तो सब साबित हो जाएगा। मेरी इच्छा केवल सोनाली बेटी को इंसाफ दिलाने की है। एक नेता ने शराब के नशे में यह राज मुझे बताया था। आप का शुभचिंतक, डर से अपना नाम अभी नहीं दे सकता। इस पत्र की प्रति एएसपी हिसार, डीजीपी हरियाणा, डीजीपी गोवा को भी भेजने का दावा किया गया है।

करीब एक महीने पहले एक चिट्टी आई थी। हमने स्थानीय पुलिस को बताया तो पुलिस ने कहा मीडिया को इस बारे में मत बताना। हमने गोवा पुलिस को इस बारे में अवगत कराया था। अब दूसरी चिट्ठी आई है। पहली चिट्ठी पर कोई कार्रवाई नहीं हुई तो हमें मीडिया का सहारा लेना पड़ा। पहली चिट्टी में एक नेता का नाम था, दूसरी चिट्ठी में चार नेताओं के नाम हैं। – अमन पूनिया, सोनाली फोगाट के जीजा 

विस्तार

भाजपा नेता सोनाली फोगाट के नाम उनके संत नगर स्थित आवास पर एक गुमनाम चिट्ठी भेजी गई है, जिसमें सोनाली के मर्डर का सौदा 10 करोड़ में होने का दावा किया गया है। मर्डर में एक पार्टी के नेता पर आरोप लगाया गया है।  

मृत सोनाली  के जेठ कुलदीप के नाम से यह चिट्ठी स्पीड पोस्ट से भेजी गई है।

हिंदी में टाइप कर भेजी गई इस चिट्ठी में हिंदी की काफी गलतियां हैं। सोनाली फोगाट को फोगट लिखा है। गुमनाम नाम ने आई इस चिट्ठी में कहा गया कि मुझे सोनाली जी की दुखद मृत्यु का बड़ा अफसोस है। खास कर सोनाली की बेटी जो पहले अपने पिता को खो चुकी हैं, उसके लिए यह मृत्यु असहनीय है। 

सोनाली के मर्डर के बारे में कुछ सूचित करना चाहता हूं। इस मर्डर के पीछे एक पार्टी के बड़े लीडर्स का हाथ है। सुधीर सांगवान केवल एक मोहरा हैं, जिसको मोटी रकम दे कर यह घिनौना काम करवाया गया है। एक स्थानीय नेता पार्टी के नाम पर चंदे की उगाही करता है। पार्टी को उसका पूरा हिसाब भी नहीं देता। एक पार्टी की टिकट के दावेदार इन नेता ने ही सोनाली के मर्डर का प्लान रचा है।

सुधीर को मोटे पैसे दिए गए हैं। इन लोगों को डर था कि सोनाली को आदमपुर से टिकट नहीं मिलता तो वो नेता को उजागर कर देंगी। उनकी लाइफ और नेतागिरी समाप्त हो जाएगी। इस कारण इन लोगों ने सोनाली को ही रास्ते से हटाने का प्लान बनाया। सोनाली के पीए सुधीर सांगवान को 10 करोड़ का ऑफर दिया, जिसके लिए सुधीर तैयार हो गया।

अगर उस नेता की कॉल डिटेल्स और उस द्वारा लिए पार्टी चंदे की पड़ताल की जाये तो सब साबित हो जाएगा। मेरी इच्छा केवल सोनाली बेटी को इंसाफ दिलाने की है। एक नेता ने शराब के नशे में यह राज मुझे बताया था। आप का शुभचिंतक, डर से अपना नाम अभी नहीं दे सकता। इस पत्र की प्रति एएसपी हिसार, डीजीपी हरियाणा, डीजीपी गोवा को भी भेजने का दावा किया गया है।

करीब एक महीने पहले एक चिट्टी आई थी। हमने स्थानीय पुलिस को बताया तो पुलिस ने कहा मीडिया को इस बारे में मत बताना। हमने गोवा पुलिस को इस बारे में अवगत कराया था। अब दूसरी चिट्ठी आई है। पहली चिट्ठी पर कोई कार्रवाई नहीं हुई तो हमें मीडिया का सहारा लेना पड़ा। पहली चिट्टी में एक नेता का नाम था, दूसरी चिट्ठी में चार नेताओं के नाम हैं। – अमन पूनिया, सोनाली फोगाट के जीजा 




Source link

Related Articles

Back to top button