Haryana

DU Admission: यूपी, हरयाणा, पंजाब बोर्ड से ज्यादा केरला बोर्ड के छात्रों ने लिया डीयू में प्रवेश, यहां देखिए डेटा

सार

Admissions to delhi university: विश्वविद्यालयों द्वारा जारी आंकड़ों के अनुसार, केरल बोर्ड से कुल औसत प्रवेश फीसदी 98.43 फीसद के साथ सभी 39 बोर्डों में सबसे अधिक है।

ख़बर सुनें

केरल बोर्ड से बड़ी संख्या में छात्रों ने दिल्ली विश्वविद्यालय में प्रवेश लिया है। डीयू के कुलपति योगेश सिंह द्वारा गठित नौ सदस्यीय पैनल ने उल्लेख किया है कि दक्षिणी बोर्ड से प्रवेश लेने वाले छात्रों की संख्या पंजाब राज्य बोर्ड, हरियाणा और उत्तर प्रदेश की तुलना में अधिक है। रिपोर्ट के आंकड़ों के अनुसार, केरल बोर्ड से कुल औसत प्रवेश फीसदी 98.43 फीसद के साथ सभी बोर्डों में सबसे अधिक है।

इन विषयों की करनी थी जांच

डीन (परीक्षा) डीएस रावत की अध्यक्षता में गठित समिति को स्नातक पाठ्यक्रमों में अधिक और कम प्रवेश के कारणों की जांच करनी थी, सभी स्नातक पाठ्यक्रमों में प्रवेश के बोर्ड-वार वितरण का अध्ययन करना था, स्नातक पाठ्यक्रमों में इष्टतम प्रवेश के लिए वैकल्पिक रणनीति का सुझाव देना था और नॉन क्रिमि लेयर स्टेटस के संदर्भ में ओबीसी प्रवेश की जांच करनी थी।

इन बोर्ड से इतने छात्रों ने लिया प्रवेश

समिति ने प्रवेश के आंकड़ों का विश्लेषण किया जो कट-ऑफ आधारित हैं और देखा कि 39 बोर्डों में से, सीबीएसई बोर्ड से 37,767 छात्र, केरल उच्च माध्यमिक शिक्षा बोर्ड से 1,890 छात्र, बोर्ड ऑफ स्कूल एजुकेशन, हरियाणा से 1,824 छात्र, आईएससी से 1,606 छात्र और बोर्ड ऑफ सेकेंडरी एजुकेशन राजस्थान से 1,329 छात्रों ने प्रवेश लिया है।

90 फीसदी छात्र केवल 5 बोर्ड से

रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि बोर्ड के अनुसार प्रवेशित छात्रों के औसत प्रवेश प्रतिशत के आंकड़ों से संकेत मिलता है कि पांच बोर्ड, जो 90 प्रतिशत से अधिक प्रवेश का गठन करते हैं, का औसत प्रतिशत भिन्न है। यह इंगित करता है कि देश के स्कूल बोर्डों में मार्किंग पैटर्न में भिन्नता है जिसके लिए स्नातक स्तर पर प्रवेश की प्रक्रिया में महत्वपूर्ण इक्विटी स्थापित करने के लिए एक उपयुक्त बेंचमार्किंग की आवश्यकता होती है। डेटा यह भी दर्शाता है कि केरल बोर्ड ऑफ हायर सेकेंडरी एजुकेशन से प्रवेश लेने वाले छात्रों की संख्या स्कूल शिक्षा बोर्ड हरियाणा, माध्यमिक शिक्षा बोर्ड राजस्थान, यूपी बोर्ड ऑफ हाई स्कूल और इंटरमीडिएट शिक्षा, माध्यमिक शिक्षा बोर्ड मध्य प्रदेश और पंजाब स्कूल शिक्षा बोर्ड प्रत्येक से ज्यादा है।

विस्तार

केरल बोर्ड से बड़ी संख्या में छात्रों ने दिल्ली विश्वविद्यालय में प्रवेश लिया है। डीयू के कुलपति योगेश सिंह द्वारा गठित नौ सदस्यीय पैनल ने उल्लेख किया है कि दक्षिणी बोर्ड से प्रवेश लेने वाले छात्रों की संख्या पंजाब राज्य बोर्ड, हरियाणा और उत्तर प्रदेश की तुलना में अधिक है। रिपोर्ट के आंकड़ों के अनुसार, केरल बोर्ड से कुल औसत प्रवेश फीसदी 98.43 फीसद के साथ सभी बोर्डों में सबसे अधिक है।


Source link

Related Articles

Back to top button