Haryana

शिक्षा: कहानी और रोचक किस्सों से विषय समझेंगे प्राइमरी के विद्यार्थी, अध्यापकों को दिया जा चुका प्रशिक्षणा


एफएलएन के तहत बैठक करते युनिट सदस्य। संवाद
– फोटो : संवाद न्यूज एजेंसी

ख़बर सुनें

हरियाणा के सिरसा में प्राथमिक स्कूलों में पढ़ने वाले विद्यार्थियों को अध्यापक अब कहानियों और रोचक किस्सों के माध्यम से विषय समझाएंगे। इसके लिए शिक्षा विभाग शिक्षकों को एफएलएन (फाउंडेशनल लिटरेसी एंड न्यूमैरिसी) के माध्यम से प्रशिक्षण दे रहा है। शिक्षकों की दो बार प्रशिक्षण दिया जा चुका है, ताकि विद्यार्थी हिंदी, गणित व अंग्रेजी विषय में निपुण हो सकें।

एफएलएन प्रशिक्षण शिविर में अध्यापकों ने जो सीखा है, उसे कक्षा में बेहतर तरीके से लागू करने की तैयारी विभाग कर रहा है। नई व्यवस्था को बेहतर तरीके से लागू करने के लिए अब सभी प्राथमिक अध्यापकों, एबीआरसी व बीआरपी को प्रशिक्षण दिया गया है, ताकि विद्यार्थियों को खेल-खेल में विषय को बेहतर तरीके से समझा सकें। शिक्षा विभाग ने पहली से पांचवीं कक्षा तक का गणित व अंग्रेजी विषय का सिलेब्स संपर्क दीदी एप पर अपलोड किया है।

साथ ही स्कूलों में स्मार्ट बोर्ड भी लगाए गए हैं। इन स्मार्ट बोर्ड पर व विभाग द्वारा दी गई किट के माध्यम से बच्चों को पढ़ाया जाएगा। विभाग ने जिले में 476 जेबीटी शिक्षकों को आठ दिनों का प्रशिक्षण दिया गया है। इसके साथ ही अध्यापकों को किट दी गई है। जिसमें बच्चों को पढ़ाने के लिए प्रयुक्त होने वाले उपकरण मौजूद हैं।

जिले में गठित की गई हैं दो कमेटियां
जिला शिक्षा विभाग की ओर से जिले में जिला प्रोजेक्ट इंप्लीमेंटेशन कमेटी व ब्लॉक प्रोजेक्ट इंप्लीमेंटेशन यूनिट का गठन किया गया है। ये यूनिट निपुण हरियाणा के तहत हो रहे प्रोजेक्ट की समीक्षा करेगी ।

प्राइमरी बच्चों को हिंदी, गणित, अंग्रेजी में निपुण करना उदेश्य
प्रशिक्षण में पहली से तीसरी कक्षा तक के बच्चों को पढ़ाने का तरीका शिक्षकों को बताया गया है। ट्रेनिंग का मुख्य उद्देश्य यह है कि बच्चों को किस प्रकार से हिंदी, गणित व अंग्रेजी विषयों में बेसिक शिक्षा दी जा सके। अब शिक्षक को बच्चों को स्मार्ट बोर्ड, ऑडियो, वीडियो, विजुलाइजेशन के माध्यम पढ़ाना होगा।

एफएलएन की ओर से जेबीटी शिक्षकों को ट्रेनिंग दी गई है। इस ट्रेनिंग के माध्यम से शिक्षकों को बताया गया है कि किस प्रकार से बच्चों को रोचक व अलग ढंग से पढ़ाया जा सकता है। बच्चों अंग्रेजी, हिंदी व गणित विषय के बेसिक सिलेब्स में निपुण बनाना एफएलएन का उद्देश्य है। – अमित मनहर, अतिरिक्त चार्ज, एफएलएन।

शिक्षा विभाग की ओर से विद्यार्थियों को पढ़ाई में निपुण बनाने के उद्देश्य से शिक्षकों को ट्रेनिंग दी जाती है। विभाग पे डिस्ट्रिक स्टीरिंग कमेटी का गठन भी किया है। इसके तहत हर समय निपुण हरियाणा प्रोजेक्ट पर नजर रखी जाएगी। – आत्मप्रकाश मेहरा, जिला मौलिक अधिकारी, सिरसा।

विस्तार

हरियाणा के सिरसा में प्राथमिक स्कूलों में पढ़ने वाले विद्यार्थियों को अध्यापक अब कहानियों और रोचक किस्सों के माध्यम से विषय समझाएंगे। इसके लिए शिक्षा विभाग शिक्षकों को एफएलएन (फाउंडेशनल लिटरेसी एंड न्यूमैरिसी) के माध्यम से प्रशिक्षण दे रहा है। शिक्षकों की दो बार प्रशिक्षण दिया जा चुका है, ताकि विद्यार्थी हिंदी, गणित व अंग्रेजी विषय में निपुण हो सकें।

एफएलएन प्रशिक्षण शिविर में अध्यापकों ने जो सीखा है, उसे कक्षा में बेहतर तरीके से लागू करने की तैयारी विभाग कर रहा है। नई व्यवस्था को बेहतर तरीके से लागू करने के लिए अब सभी प्राथमिक अध्यापकों, एबीआरसी व बीआरपी को प्रशिक्षण दिया गया है, ताकि विद्यार्थियों को खेल-खेल में विषय को बेहतर तरीके से समझा सकें। शिक्षा विभाग ने पहली से पांचवीं कक्षा तक का गणित व अंग्रेजी विषय का सिलेब्स संपर्क दीदी एप पर अपलोड किया है।

साथ ही स्कूलों में स्मार्ट बोर्ड भी लगाए गए हैं। इन स्मार्ट बोर्ड पर व विभाग द्वारा दी गई किट के माध्यम से बच्चों को पढ़ाया जाएगा। विभाग ने जिले में 476 जेबीटी शिक्षकों को आठ दिनों का प्रशिक्षण दिया गया है। इसके साथ ही अध्यापकों को किट दी गई है। जिसमें बच्चों को पढ़ाने के लिए प्रयुक्त होने वाले उपकरण मौजूद हैं।

जिले में गठित की गई हैं दो कमेटियां

जिला शिक्षा विभाग की ओर से जिले में जिला प्रोजेक्ट इंप्लीमेंटेशन कमेटी व ब्लॉक प्रोजेक्ट इंप्लीमेंटेशन यूनिट का गठन किया गया है। ये यूनिट निपुण हरियाणा के तहत हो रहे प्रोजेक्ट की समीक्षा करेगी ।

प्राइमरी बच्चों को हिंदी, गणित, अंग्रेजी में निपुण करना उदेश्य

प्रशिक्षण में पहली से तीसरी कक्षा तक के बच्चों को पढ़ाने का तरीका शिक्षकों को बताया गया है। ट्रेनिंग का मुख्य उद्देश्य यह है कि बच्चों को किस प्रकार से हिंदी, गणित व अंग्रेजी विषयों में बेसिक शिक्षा दी जा सके। अब शिक्षक को बच्चों को स्मार्ट बोर्ड, ऑडियो, वीडियो, विजुलाइजेशन के माध्यम पढ़ाना होगा।

एफएलएन की ओर से जेबीटी शिक्षकों को ट्रेनिंग दी गई है। इस ट्रेनिंग के माध्यम से शिक्षकों को बताया गया है कि किस प्रकार से बच्चों को रोचक व अलग ढंग से पढ़ाया जा सकता है। बच्चों अंग्रेजी, हिंदी व गणित विषय के बेसिक सिलेब्स में निपुण बनाना एफएलएन का उद्देश्य है। – अमित मनहर, अतिरिक्त चार्ज, एफएलएन।

शिक्षा विभाग की ओर से विद्यार्थियों को पढ़ाई में निपुण बनाने के उद्देश्य से शिक्षकों को ट्रेनिंग दी जाती है। विभाग पे डिस्ट्रिक स्टीरिंग कमेटी का गठन भी किया है। इसके तहत हर समय निपुण हरियाणा प्रोजेक्ट पर नजर रखी जाएगी। – आत्मप्रकाश मेहरा, जिला मौलिक अधिकारी, सिरसा।




Source link

Related Articles

Back to top button