Haryana

बारिश थमने से किसानों को कुछ राहत: अधिकतम तापमान में भी 2 डिग्री सेल्सियस की गिरावट, 13KM की रफ्तार से चल रहीं हवाएं, 27 तक बारिश के आसार

पानीपतएक घंटा पहले

  • कॉपी लिंक

पानीपत में सुबह के समय बादलों �

पानीपत में गुरुवार सुबह के समय बारिश रुकी रही। जिसने धान और सब्जी के किसानों की चिंता कुछ कम की है। सुबह से ही सूर्यदेव के दर्शन हुए। 13 किलोमीटर प्रतिघंटा की रफ्तार से चल रही हवाओं ने गर्मी का अहसास नहीं होने दिया। अधिकतम तापमान में भी 2 डिग्री सेल्सियस की गिरावट आई है। गुरुवार को अधिकतम तापमान 27 डिग्री सेल्सियस रहेगा। मौसम विभाग ने दोपहर बाद बारिश की संभावना जताई है। 27 सितंबर तक बारिश जारी रह सकती है।

पानीपत में इस बार अब तक सामान्य से 47 प्रतिशत अधिक बारिश हो चुकी है। जिस कारण धान के खेतों का पानी सूख ही नहीं रहा। अब धान की फसल में बाली आ चुकी है। खेतों में हर समय पानी रहने और हवा चलने के कारण धान की फसल गिर रही है। जिससे धान का उत्पादन प्रभावित होगा।

पानीपत में 5 दिन बारिश का दौर थमने से किसानों को राहत मिली थी, लेकिन मंगलवार और फिर बुधवार दिनभर बारिश और बूंदाबांदी होती रही। जिससे किसानों की चिंता फिर बढ़ गई। अब गुरुवार सुबह बारिश रुकने के साथ हल्की धूप निकली। हालांकि 13 किलोमीटर प्रतिघंटा की रफ्तार से हवाएं चलती रहीं। जिसने गर्मी का अहसास नहीं होने दिया।

27 सितंबर तक बारिश के आसार
मानसूनी टर्फ रेखा के साथ मौसम विभाग का भी बारिश को लेकर अनुमान रोज बदल रहा है। बंगाल की खाड़ी पर बने लो प्रेशर एरिया और अरब सागर से आ रही नमी वाली हवाओं के कारण सितंबर तक मानसून के सक्रिय रहने का अनुमान लगाया गया था। अब मौसम विभाग का कहना है कि 27 सितंबर तक पानीपत में बारिश जारी रह सकती है। विंड पैटर्न बदलने से दिन और रात के तापमान में ज्यादा अंतर नहीं आएगा।

खबरें और भी हैं…

Source link

Related Articles

Back to top button