Haryana

फ्रॉड करने वालों के बारे में बताने पर इनाम: चंडीगढ़ पुलिस ने 19 केसों में वांटेड 7 लोगों की लिस्ट जारी की, इनमें से 4 सगे भाई

चंडीगढ़16 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

प्रतीकात्मक तस्वीर।

चंडीगढ़ में आपराधिक वारदातों के बढ़ने के साथ ही अपराधियों की तादाद भी बढ़ रही है। कुछ अपराधी पुलिस के हत्थे चढ़ रहे हैं वहीं कुछ शातिर अपराधी अभी भी गिरफ्त से बाहर हैं। चंडीगढ़ पुलिस के आर्थिक अपराध शाखा (EOW) ने 7 शातिर आरोपियों की जानकारी देने वाले के लिए इनाम की घोषणा की हुई है।

इनमें से 4 आरोपी सगे भाई हैं। यह गुप्ता बिल्डर्स एंड प्रमोटर्स(GBP) के डायरेक्टर्स हैं और चंडीगढ़ पुलिस द्वारा दर्ज 19 आपराधिक केसों में आरोपी हैं। इनके खिलाफ पंजाब पुलिस ने भी केस दर्ज किए हुए हैं। कई कस्टमर्स ने इनके खिलाफ पैसे लेने के बावजूद प्लाट का पोजेशन न देने के आरोपों में केस दर्ज करवाए हुए हैं।

करोड़ों की ठगी कर हुए फरार

GBP के डायरेक्टर्स चारों भाइयों का पता बनाते वाले को 50 हजार रुपए तक का इनाम देने की घोषणा की गई है। कुल 4 भाईयों में से 3 आदर्श नगर, डेरा बस्सी (मोहाली) के रहने वाले हैं। इनके नाम सतीश गुप्ता, प्रदीप गुप्ता और रमन गुप्ता हैं। वहीं चौथा भाई अनुपम गुप्ता सेक्टर 48 सी चंडीगढ़ की सीनियर सिटिजन सोसाइटी का निवासी है। चारों ही फरार चल रहे हैं। यह कई कस्टमर्स को करोड़ों रुपए का चूना लगा भागे हुए हैं।

11 साल पुराने केस में फरार

पटियाला के अर्बन एस्टेट निवासी अजय गर्ग पर मनीमाजरा थाना पुलिस ने अक्तूबर, 2011 में धोखाधड़ी और आपराधिक साजिश रचने की धाराओं में केस दर्ज किया था। चंडीगढ़ पुलिस की आधिकारिक जानकारी के मुताबिक वह भी फरार है। उस पर 25 हजार रुपए का इनाम है। इसी तरह सेक्टर 18 चंडीगढ़ के प्रेम लाल मिड्ढा पर पुलिस ने 25 हजार रुपए का इनाम रखा है। वह चंडीगढ़ की UT कंस्ट्रक्शन प्राइवेट लिमिटेड का डायरेक्टर है। उसके खिलाफ EOW ने 3 केस दर्ज किए हुए हैं।

यह आरोपी चल रहे हैं फरार।

यह आरोपी चल रहे हैं फरार।

इमिग्रेशन फ्रॉड केस में आरोपी

सातवें फरार आरोपी के रूप में मोहाली सेक्टर 70 की क्रिस्पी खेहरा शामिल है। उस पर पुलिस ने 50 हजार रुपए इनाम की घोषणा की हुई है। उसका ऑफिशियल एड्रेस M/s हाई कमीशन फेसिलिटेशंस सर्विस एंड इमिग्रेशन प्रा.लि., सेक्टर 43 बी है। उस पर लोगों को विदेश भेजने के नाम पर ठगी करने के आरोप हैं। उसके पति का भी आपराधिक रिकार्ड है।

इस नंबर पर दें जानकारी

चंडीगढ़ पुलिस ने कहा है कि इन आरोपियों की जानकारी देने वाले का पता गुप्त रखा जाएगा। इनकी कोई भी जानकारी मिलने पर DSP(EOW) नियति मित्तल के मोबाइल नंबर 9818664482 पर या आर्थिक अपराध शाखा, चंडीगढ़ पुलिस के सेक्टर 17 ऑफिस में जानकारी दी जा सकती है।

खबरें और भी हैं…

Source link

Related Articles

Back to top button