Haryana

फतेहाबाद में दो पक्षों में तनाव: पुलिस छावनी में बदला गांव रत्ताखेड़ा; अंबेडकर भवन की जमीन पर दलितों-सिखों में तनातनी

[ad_1]

फतेहाबाद29 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

गांव रत्ताखेड़ा में दो पक्षों के तनाव के बाद पहुंची पुलिस मौके का मुआयना करते हुए।

हरियाणा के फतेहाबाद के गांव रत्ताखेड़ा में दलित समुदाय और गुरुद्वारा गुरु गोबिंद सिंह संगत के बीच विवाद गहरा गया है। शनिवार को दोनों पक्षों के लोगों के आमने-सामने आ जाने के बाद गांव में तनाव हो गया और इसके बाद गांव रत्ताखेड़ा को पुलिस छावनी में बदल दिया गया। पुलिस अधिकारी गांव में डेरा डाले हुए हैं और दोनों पक्षों के बीच के विवाद को निपटाने के प्रयास में लगे हैं।

फतेहाबाद के रत्ताखेड़ा में विवाद के बाद निर्माणाधीन अंबेडकर भवन के बाहर तैनात पुलिस।

फतेहाबाद के रत्ताखेड़ा में विवाद के बाद निर्माणाधीन अंबेडकर भवन के बाहर तैनात पुलिस।

यहां से भड़का झगड़ा

बताया गया है कि दोनों पक्षों में विवाद की शुरूआत अंबेडकर भवन की जमीन को लेकर हुई थी। इसमें एक व्यक्ति के साथ मारपीट की गई। मामला पुलिस तक पहुंचा लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई। इस बीच शनिवार को दोनों पक्षों के लोग आमने सामने आ गए। जातीय तनाव की सूचना के बाद डीएसपी शाकिर हुसैन, शुक्रपाल, अजायब सिंह भारी पुलिस बल के साथ गांव रत्ताखेड़ा में पहुंचे और स्थिति को संभाला।

रत्ताखेड़ा में ग्रामीणों से बातचीत करते अधिकारी।

रत्ताखेड़ा में ग्रामीणों से बातचीत करते अधिकारी।

अंबेडकर भवन की जमीन पर विवाद

रत्ताखेड़ा गांव में पंचायत ने दलित समुदाय को अंबेडकर भवन बनाने के लिए जमीन अलॉट की है। पंचायत मंत्री देवेंद्र बबली ने भी 17 लाख रुपए की ग्रांट दी तो अंबेडकर भवन का निर्माण कार्य शुरू किया गया। दूसरी तरफ गुरुद्वारा गुरु गोबिंद सिंह की ओर से कहा गया कि अंबेडकर भवन के लिए जितनी जगह अलॉट की गई है, उससे कहीं ज्यादा पर अवैध कब्जा किया गया है। इसी को लेकर गुरद्वारा पक्ष के अतर सिंह के साथ कुछ लोगों ने मारपीट कर दी। पुलिस ने उसकी शिकायत पर कोई कार्रवाई नहीं की।

रत्ताखेड़ा में इस जमीन को लेकर विवाद।

रत्ताखेड़ा में इस जमीन को लेकर विवाद।

कई थानों की पुलिस तैनात

शनिवार को यही विवाद भड़क गया और दोनों पक्षों के लोग एक दूसरे के खिलाफ खड़े हो गए। प्रशासन काे सूचना मिली तो आनन फानन में ही फतेहाबाद शहर थाना, सदर थाना, टोहाना शहर पुलिस व सदर से भारी संख्या में पुलिस गांव में तैनात कर दी गई। पांच डीएसपी भी गांव में मौजूद हैं और दोनों पक्षों को समझाने में लगे हैं।

विवाद के बाद लोगों से बात करती पुलिस।

विवाद के बाद लोगों से बात करती पुलिस।

पुलिस-प्रशासन ने डाला डेरा

फिलहाल गांव में एसडीएम राजेश कुमार, तहसीलदार रमेश कुमार, बीडीपीओ नरेन्द्र सिंह, डीएसपी शाकिर हुसैन, डीएसपी शुक्रपाल, डीएसपी चन्द्रपाल, डीएसपी अजायब सिंह, थाना प्रभारी राजपाल, सदर थाना प्रभारी जयभगवान, सीआईए प्रभारी साधूराम व जाखल एसएचओ शादी राम स्थिति पर नजर रखे हुए हैं। समाचार लिखे जाने तक गांव में तनाव का माहौल था।

खबरें और भी हैं…
[ad_2]
Source link

Related Articles

Back to top button