Haryana

पानीपत में 24 वर्षीय युवक का मर्डर: 2 माह पहले हुई हाथापाई का दोस्त ने लिया बदला; दिनभर शराब पीकर एकसाथ सोए थे

पानीपत22 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

विनेश (फाइल फोटो)।

हरियाणा के पानीपत शहर के कुलदीप नगर में 24 साल के युवक की हत्या कर दी गई। करीब 2 माह पहले हुई मामूली हाथापाई का कलयुगी दोस्त ने बदला लिया। साथ में सो रहे दोस्त की बेरहमी से हत्या करने के बाद आरोपी छत कूदकर वहां से फरार हो गया।

वारदात की सूचना साथ सो रहे अन्य दोस्तों ने देखते ही साथ वाले दुकान मालिक को दी। वहीं, मृतक के परिजनों को भी सूचित किया गया। सूचना मिलते ही परिजन मृतक की दुकान पर मौके पर पहुंचे, जहां उसे मृत पड़ा देख उनके पैरों तले की जमीन खिसक गई।

वारदात की सूचना पुलिस को दी गई। सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची। वारदात स्थल से जरूरी साक्ष्य जुटाकर शव को पानीपत सिविल अस्पताल भिजवाया। जहां उसका पंचनामा भरवा कर शवगृह में रखवा दिया गया है।

विनेश (फाइल फोटो)।

विनेश (फाइल फोटो)।

शराब पीते-पीते हो गई थी देर, इसीलिए दुकान में सो गए

जानकारी देते हुए कुलदीप कश्यप ने बताया कि वह गढ़ी सिंकदरपुर छावनी का रहने वाला है। उसके भतीजा विनेश कश्यप (24) निवासी गढ़ी सिंकदरपुर छावनी की कुलदीप नगर में चिकन की दुकान है। जहां गुरुवार को वह अपने दोस्तों के साथ चिकन खाने गया था।

वहां पर विनेश के दोस्त राम, लक्ष्मण, चुटिया, रोहित कालिया और जितेंद्र उर्फ घोड़ा भी आ गया। इसके बाद उन्होंने विनेश को भी शराब पार्टी करने की बात कही। विनेश ने चिकन बनाया। सभी दिन में ही शराब पीने लगे।

कुछ देर बाद कुलदीप अपने दोस्तों के साथ वहां से चला गया था। मगर, विनेश और उसके दोस्त शराब पीते रहे। शराब पीने के दौरान उन्हें देरी हो गई थी। इसी वजह वे दुकान में ही सो गए थे।

करीब डेढ बजे की वारदात, दो दोस्त हुए फरार

देर रात करीब ढाई बजे राम, लक्ष्मण, चुटिया पुलिस के साथ विनेश के घर गए। जिन्होंने बताया कि जितेंद्र उर्फ घोड़ा (करीब 19) साल ने विनेश के सिर पर चोट मार दी है। यह सुनने के बाद परिजन मौके पर पहुंचे तो उन्होंने देखा कि विनेश का सिर फटा हुआ था।

दुकान में काफी खून बह रहा था और उसकी मौत हो चुकी थी। इसके बाद पुलिस के सामने तीनों दोस्तों ने बताया कि गुरुवार को दिनभर की शराब पार्टी में किसी की भी कोई कहासुनी नहीं हुई थी। ज्यादा शराब पीने की वजह वे दुकान में ही सो गए थे।

रात को करीब डेढ बजे जितेंद्र उर्फ घोड़ा जागा और दुकान में रखी लोहे की रॉड उठाई और सो रहे विनेश के सिर पर ताबड़तोड़ हमला कर दिया। उसने पहले सिर पर हमला किया। इसके बाद निजी अंग पर हमला किया और उसका मुंह बांध दिया।

शुरुआती दो-दिन हमले में ही विनेश चित हो गया था। इसके बाद भी जितेंद्र उसकी टांगों पर हमला करता रहा। उसका कान भी काट दिया। वारदात को अंजाम देने के बाद आरोपी दुकान की छत कूदकर वहां से फरार हो गया। उसके साथ रोहित कालिया भी भाग गया।

तीन भाई-बहनों में बड़ा था मृतक
विनेश 4 साल के बेटे अमृत का पिता था। उसकी पत्नी इशीका है, जिससे कोर्ट में तलाक केस चल रहा था। वह तीन भाई-बहनों में सबसे बड़ा था। उसकी छोटी बहन आरजू (22) शादीशुदा है। सबसे छोटा भाई विकास (16) पढ़ाई करता है। पिता नरेश कश्यप का करीब 4 साल पहले देहांत हो चुका है। मां सुनीता गृहणी है।

खबरें और भी हैं…

Source link

Related Articles

Back to top button