Haryana

पानीपत के उद्यमी TB पीड़ितों को देंगे भत्ता: स्वास्थ्य विभाग के साथ हैं अभियान में शामिल; चार में मिले 60 नए मरीज

पानीपतएक घंटा पहले

  • कॉपी लिंक

चैंबर ऑफ कॉमर्स के चेयरमैन विनोद खंडेलवाल।

हरियाणा के पानीपत जिले का स्वास्थ्य विभाग उद्यमियों की मदद से एक जुलाई से टीबी मुक्त भारत अभियान चला रहा है। पिछले चार माह में स्वास्थ्य विभाग अब तक दो हजार फैक्टरियों में दो लाख से अधिक श्रमिकों की जांच कर चुका है। इनमें से टीबी के 60 मरीज चिह्नित गए हैं।

उद्यमी स्वास्थ्य विभाग का सहयोग करते हुए टीबी के रोगियों को ठीक होने तक गोद ले रहे हैं। अब चैंबर ऑफ कॉमर्स ने भी टीबी रोगियों को अपनी ओर से हर माह 500 रुपए आर्थिक सहायता देने की घोषणा की है। ये राशि तब तक दी जाएगी, जब तक रोगी पूर्ण रूप से स्वस्थ नहीं होते।

ये घोषणा उन श्रमिकों के लिए की गई है जो इन चार माह में चिह्नित किए गए हैं। उद्यमी टीबी रोगियों को ठीक होने तक उन्हें घर का राशन भी देंगे। स्वास्थ्य विभाग पानीपत की तर्ज पर पूरे प्रदेश में ऐसे ही टीबी मुक्त अभियान भी चलाएगा।

चार में सवा दो लाख चेकअप, नौ माह में मिले 2855 मरीज
पिछले चार माह में सवा दो लाख श्रमिकों की टीबी जांच हो चुकी है। पिछले नौ माह में जिले में टीबी के 2855 रोगी मिले हैं। 55 लोगों की टीबी से मौत हो चुकी है। इन नौ माह में टीबी से 203 बच्चे भी ग्रस्त मिले हैं। 501 रोगी टीबी को मात दे चुके हैं। अब भी जिले में लगभग 2760 लोगों का टीबी का इलाज चल रहा है।

पॉजिटिव रोगी तलाशने पर भत्ता
– 500 रुपये मासिक पोषण भत्ता मरीज को।
– 500 भत्ता, पॉजिटिव मरीज को तलाशने पर।
– 500 रुपये निजी अस्पताल को निश्चय पोर्टल पर डिटेल देने पर।
– 1500 रुपये ट्रीटमेंट सपोर्ट को।
– पांच हजार रुपए एमडीआर मरीज को दवा खिलाने पर।

हम टीबी को खत्म करने के लिए सरकार के साथ- विनोद
चैंबर ऑफ कॉमर्स के चेयरमैन विनोद खंडेलवाल ने कहा कि जो भी फैक्टरियों में टीबी के रोगी मिल रहे हैं, चैंबर ऑफ कॉमर्स की ओर से उन्हें 500 रुपए प्रति माह आर्थिक सहायता दी जाएगी। एक जुलाई से चैंबर ऑफ कॉमर्स व स्वास्थ्य विभाग टीबी के खिलाफ काम कर रहा है। दो लाख से अधिक श्रमिकों की जांच हो चुकी है। हम टीबी को खत्म करने के लिए सरकार के साथ हैं।

खबरें और भी हैं…

Source link

Related Articles

Back to top button