Haryana

झज्जर में भाजपा के कार्यक्रम का विरोध: प्रोग्राम को सीक्रेट रखने के बावजूद लघु सचिवालय पहुंच गए किसान, नहीं हो पाए प्रदेशाध्यक्ष धनखड़ शामिल; सांसद ने ही ली बैठक

  • Hindi News
  • Local
  • Haryana
  • Despite Keeping The Program Secret, The Farmers Reached The Mini Secretariat, The State President Dhankhar Could Not Join; MP Took The Meeting

झज्जर14 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

झज्जर के लघु सचिवालय के संवाद भवन में भाजपा वर्कर्स की बैठक लेते सांसद अरविंद शर्मा।

हरियाणा में आए दिन किसी न किसी इलाके में भाजपा नेताओं को विरोध का सामना करना पड़ रहा है। रविवार को झज्जर में भी पार्टी के एक कार्यक्रम में पार्टी के प्रदेशाध्यक्ष ओपी धनखड़, रोहतक के सांसद अरविंद शर्मा और प्रभारी विनोद तावड़े को शामिल होना था। इस कार्यक्रम को पहले से हो रहे विरोध के चलते हालांकि गुप्त रखा गया था, लेकिन फिर भी खेती कानूनों का विरोध कर रहे किसानों को इसकी भनक लग गई। इसके बाद यहां काफी संख्या में किसान संगठनों के लोग पहुंच गए और पार्टी के नेतृत्व के खिलाफ नारे लगाए। पुलिस ने बड़ी मुश्किल से हालात पर काबू पाया। वहीं, धनखड़ और तावड़े की शमूलियत को रद्द करके अकेले सांसद अरविंद शर्मा ने कार्यकर्ताओं की बैठक ली।

लघु सचिवालय के बाहर आंदाोलनकारी किसानों के साथ बात करती पुलिस।

लघु सचिवालय के बाहर आंदाोलनकारी किसानों के साथ बात करती पुलिस।

मिली जानकारी के अनुसार रविवार को झज्जर में भाजपा की जिला कार्यकारिणी की बैठक होनी थी। यहां लघु सचिवालय के संवाद भवन में रोहतक के सांसद डॉ. अरविंद शर्मा, प्रभारी विनोद तावड़े और भाजपा प्रदेशाध्यक्ष ओमप्रकाश धनखड़ को कार्यकर्ताओं की बैठक लेनी थी। बैठक की सूचना पूरी तरह गोपनीय रखी गई थी। तय समय के अनुसार भाजपा कार्यकर्ता काफी अधिक संख्या में संवाद भवन में पहुंच गए। सांसद शर्मा भी आ चुके थे, लेकिन अभी तावड़े और धनखड़ यहां नहीं पहुंचे थे। इसी बीच आंदोलनकारी किसानों को खबर मिली तो करीब पांच दर्जन किसान यहां पहुंच गए।

हालांकि सुरक्षा की नजर से जिला प्रशासन ने पहले ही भारी पुलिस बल यहां पर लगाया हुआ था। जिला प्रशासन की तरफ से एसडीएम शिखा और पुलिस प्रशासन की तरफ से डीएसपी राहुल देव शर्मा और नरेश भी भारी पुलिस बल के साथ मौके पर मौजूद रहे। अधिकारियों ने किसानों को समझाने का प्रयास भी किया, लेकिन किसान भाजपा नेताओं का विरोध करते रहे। अंदर सांसद अरविंद शर्मा कार्यकर्ताओं की बैठक ले रहे थे और बाहर किसान भाजपा नेताओं के विरोध में नारे लगा रहे थे।

किसान नेता चिंटू दलाल छारा और नाराज किसानों का कहना था कि जब भाजपा नेताओं को पता है कि किसानों ने उनके कार्यक्रमों के विरोध का निर्णय लिया हुआ है तो उसके बावजूद वो ऐसा क्यों कर रहे हैं। जब भाजपा यह निजी कार्यक्रम था तो फिर वह सरकारी भवन में क्यों किया गया। आखिर विराध के चलते ओपी धनखड़ और विनोद तावड़े की शमूलियत को रद्द करके अकेले सांसद अरविंद शर्मा ने कार्यकर्ताओं की बैठक ली।

खबरें और भी हैं…

Source link

Related Articles

Back to top button