Haryana

ई-ऑक्सन: आरटीजीएस से ईएमडी देने वाले नहीं ले पाए प्लॉटों की बाेली में भाग, दोपहर 2 बजे बाद हुई स्वीकार तब तक प्लाॅट बिक गए

[ad_1]

  • Hindi News
  • Local
  • Haryana
  • Hisar
  • Those Who Gave EMD From RTGS Could Not Participate In The Bidding Of Plots, Accepted After 2 Pm, Till Then The Plots Were Sold

हिसारएक घंटा पहले

  • कॉपी लिंक

ईएमडी जमा होने के बाद भी बोली में हिस्सा नहीं ले पाने वाले लोग सेक्टर 16-17 आरडब्लूए प्रधान जितेंद्र श्योराण, पीएलए आरडब्ल्यूए प्रधान सतपाल ठाकुर के नेतृत्व में एचएसवीपी कार्यालय में पहुंचे।

एचएसवीपी की सर्कल स्तर की रेजिडेंशियल प्लाॅटाें की बाेली में शुक्रवार काे बैंक से आरटीजीएस और एनईएफटी के माध्यम से ईएमडी जमा कराने वाले लाेग ऑनलाइन ऑक्सन में हिस्सा नहीं ले पाए। विराेध स्वरूप सेक्टरवासी सेक्टर 16-17 आरडब्लूए प्रधान जितेंद्र श्याेराण व पीएलए आरडब्लूए प्रधान सतपाल ठाकुर काे साथ लेकर एचएसवीपी कार्यालय पहुंचे।

बाेली देने के इच्छुक लाेगाें ने दाेनाें आरडब्लूए प्रधान के नेतृत्व में अकाउंट अधिकारियाें से बातचीत की। स्थानीय अकाउंट ब्रांच के अधिकारियाें ने कहा कि यह मामला मुख्यालय डील हाे रहा है। सर्कल लेवल पर फेरबदल करने का अधिकार नहीं है। लाेगाें ने ऑनलाइन ऑक्सन में धांधली के आराेप लगाए और बाेली कैंसिल कराने की मांग की। विराेध के बाद दाेपहर 2 बजे के बाद कुछ लाेगाें काे जाे अरनेस्ट मनी जमा करा चुके थे, उनकी पेमेंट स्वीकार दिखी मगर तब तक ठीक लाेकेशन के प्लाॅट बिक चुके थे।

पढ़िए… हुडा के सर्कल में किन सेक्टरों और कितने प्लाॅटों की हुई बाेली

  • हिसार: सेक्टर 1-4, सेक्टर 4 पी, सेक्टर 5, सेक्टर 9-11, सेक्टर 13पी व 14 पी, सेक्टर 16-17, सेक्टर 33 पी के कुल 116 प्लाॅटाें की ऑनलाइन बाेली थी।
  • फतेहाबाद : सेक्टर 3 व 11 के कुल 12 प्लाॅटाें की बाेली थी।
  • सिरसा : सेक्टर 20 पी के 19 प्लाॅटाें की बाेली थी।

इन 4 उदाहरण से समझिए… ई-ऑक्सन पर क्या आई परेशानी

  • 1. बीरमती ने सेक्टर में प्लाॅट लेने के लिए बेस प्राइज के हिसाब से 2.75 लाख रुपये अरनेस्ट मनी जमा करा दी। ये अरनेस्ट बनी बैंक से आरटीजीएस के माध्यम से जमा कराई थी। बिडर के अकाउंट से पैसे कट गए मगर एचएसवीपी की साइट पर ईएमडी पेंडिंग दिखा रही है।
  • 2. बिडर रामकिशन ने बताया कि हमने 5 लाख रुपये की अरनेस्ट मनी ऑनलाइन बाेली में भाग लेने के लिए जमा करा दी। यह पेमेंट आरटीजीएस से जमा हुई मगर ई ऑक्सन की साइट पर पेमेंट शाे ही नहीं की। ऐसे में वे बाेली में हिस्सा नहीं ले पाए।
  • 3. विकास ने बताया कि उन्हाेंने 1.38 लाख रुपये की बाेली देने के लिए अरनेस्ट मनी जमा करा दी। रजिस्ट्रेशन फीस भी जमा हाे गई लेकिन बाेली के लिए ऑनलाइन ऑक्सन में हिस्सा ही नहीं ले पाया।
  • 4. सेक्टर वासी राजेश ने बताया कि उन्हाेंने ऑनलाइन ऑक्सन के लिए प्लाॅट खरीदने के लिए उन्हाेंने 24 तारीख काे ही 1.41 लाख रुपए जमा करा दिए। उन्हें काॅमर्शियल साइट की बाेली में हिस्सा शनिवार काे लेना है लेकिन अभी तक पेमेंट पेंडिंग दिख रही है। हैरानी की बात है कि जिन्हाेंने भी आरटीजीएस कराया है वे ऑनलाइन बाेली में हिस्सा नहीं ले पाए।

पार्षदाें और आरडब्लूए की मीटिंग बुलाकर रणनीति बनाई जाएगी

एचएसवीपी व तहसील ऑफिस से हम इतने दुखी हाे चुके हैं कि काेई समाधान नहीं हाे पा रहा। सभी पार्षदाें व सभी आरडब्लूए की मीटिंग बुलाकर बड़ी रणनीति बनाई जाएगी। समाधान हाेगा ताे ठीक है वरना हम आंदाेलन छेड़ेंगी।” -प्रवीन जैन, प्रधान, सेक्टर 9-11 आरडब्लूए।

ई-ऑक्सन को लेकर पूरा कंट्राेल मुख्यालय का

ई-ऑक्सन संबंधित पूरा कंट्राेल मुख्यालय स्तर पर है। अगर किसी तरह का टेक्नीकल ईश्यू हाे ताे भी स्थानीय स्तर पर समाधान नहीं हाे सकता था।” -प्रीतपाल, एस्टेट ऑफिसर, एचएसवीपी, हिसार।

खबरें और भी हैं…
[ad_2]
Source link

Related Articles

Back to top button