Haryana

ईएनटी कांफ्रेंस :: नाक, कान व गले के इलाज की आधुनिक पद्धतियों को ईएनटी डाक्टर्स से किया गया साझा

फरीदाबाद44 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

फरीदाबाद। ईएनटी कांफ्रेंस का दीप पऱ्ज्ज्वलित कर शुभारंभ करते डाक्टर्स।

  • सर्वोदय हॉस्पिटल की ओर से आयोजित इस कांफ्रेंस में पूरे भारत से 100 ईएनटी सर्जन शामिल हुए।

फरीदाबाद के सर्वोदय हॉस्पिटल की ओर से ईएनटी के इलाज में आई आधुनिकता विषय पर कांफ्रेंस का आयोजन किया गया। कांफ्रेंस में प्रख्यात ईएनटी

सर्जनों ने कान के अंदर टेम्पोरल बोन की सर्जरी एवं कान की अन्य सर्जरी के विभिन्न पहलुओं एवं

उसके इलाज की आधुनिक पद्धतियों के बारे में डॉक्टर्स को अवगत कराया। कांफ्रेंस का लक्ष्य कान, नाक एवं गला की चिकित्सा में नए और बेहतर रास्ते तलाशने और उनके लाभों को उत्तर भारत के ईएनटी विशेषज्ञों के साथ साझा करना था।

सर्वोदय हॉस्पिटल के वरिष्ठ ईएनटी विशेषज्ञ डॉ. रवि भाटिया ने बताया कि इस कांफ्रेंस में कान के इलाज से जुड़ी विभिन्न प्रकार की सर्जरी में अत्याधुनिक मेडिकल उपकरणों एवं तकनीक का प्रयोग किया गया। इसका सीधा प्रसारण भी किया गया। इस कांफ्रेंस में चेन्नई से आए देश के जाने माने पद्मश्री डॉ. मोहन कामेश्वरन ने इस विषय पर अपना ज्ञान और अनुभव बांटा और ईएनटी की नई तकनीकों की चर्चा की। इस कांफ्रेंस में कई पीजी छात्र भी शामिल थे। डॉ. भाटिया ने बताया कांफ्रेंस में हमारा फोकस माइक्रोस्कोपिक सर्जरी पर ही था, जो डाक्टरों व मरीजों के बीच तेज़ी से सर्जरी की पसंद बनती जा रही है। क्योंकि रोगियों को कम एनेस्थीसिया, कम दर्द, कम खून का बहना, जल्दी ठीक होना और कम जटिलताएं होने का लाभ मिलता है। सर्वोदय हॉस्पिटल के चेयरमैन डॉ. राकेश गुप्ता ने कहाकि इस प्रकार की कांफ्रेंस आधुनिक मेडिकल तकनीक के प्रचार और प्रसार के लिए बहुत कारगर साबित होती हैं।इसका फायदा मरीज को बेहतर चिकित्सा परिणाम के रूप में मिलता है। मरीज को बेहतर और उन्नत इलाज देना हमारी प्राथमिकता में शामिल है और इस प्रकार की कांफ्रेंस हमारे इस मकसद को पूरा करने में हमारी मदद करती हैं।

कार्यशाला में पूरे भारत से 100 ईएनटी सर्जन सहित डॉ. मोहन कामेश्वरन, डॉ. मोहनीश ग्रोवर, डॉ देवेंदर राय, डॉ विकास कक्कर, डॉ ललित हसीजा आदि मौजूद थे।

खबरें और भी हैं…

Source link

Related Articles

Back to top button