Haryana

अरविंद शर्मा का CM पर फिर निशाना: BJP सांसद बोले- सीएम मुझे पार्टी का हिस्सा नहीं मानते; मेरा सिस्टम होता तो 2 घंटे में केस निपटा देता

पानीपत30 मिनट पहले

पत्रकारों से बातचीत करते रोहतक के BJP सांसद अरविंद शर्मा।

हरियाणा में रोहतक से भाजपा के लोकसभा सांसद अरविंद शर्मा ने एक बार फिर पहरावर गांव की जमीन ब्राह्मण समाज को देने की मांग उठाई है। रविवार को पानीपत पहुंचे BJP सांसद ने कहा कि रोहतक के पहरावर गांव की जमीन उनके समाज की है और सरकार को इसे देना चाहिए। जब अरविंद शर्मा से पूछा गया कि क्या वे खुद को अगले सीएम के तौर पर देख रहे हैं? क्या वे सीएम बनने की तैयारियों में लगे हैं? तो वह मुस्कुराकर आगे बढ़ गए।

इससे पहले BJP सांसद अरविंद शर्मा ने CM मनोहर लाल के उस बयान का जवाब भी दिया जिसमें CM ने कहा था कि अगर अरविंद शर्मा सरकार का हिस्सा होते तो उन्हें पता लगता कि इस काम में कितना समय लगता है? अरविंद शर्मा ने कहा, ‘मैं खुद को सरकार का हिस्सा मानता हूं। अगर CM नहीं मानते तो मैं कहता हूं कि अगर सरकार में मेरा सिस्टम होता तो मैं दो घंटे के अंदर इस जमीन के विवाद को निपटा देता। सिर्फ इसी जमीन का नहीं, ब्लकि किसी भी संस्था या समाज की समस्या होती तो सभी को दूर कर देता।’

पानीपत में प्रेस कॉन्फ्रेंस करते भाजपा सांसद अरविंद शर्मा।

अरविंद शर्मा ने कहा कि अब पहरावर की जमीन देने के साथ उनकी एक और मांग भी है। सरकार न केवल यह जमीन ब्राह्मण समाज को दें, बल्कि यह भी सुनिश्चित करें कि उस जमीन पर स्कूल, अस्पताल, मंदिर या जनमानस के उपयोग के लिए क्या बनेगा? उस जमीन पर जो भी बनेगा, उसकी पूरी प्लानिंग सरकार करें। प्लानिंग के साथ-साथ जमीन पर निर्माण भी सरकार ही करवाएं। यह उनकी सरकार से पुरजोर मांग है।

भाजपा सांसद ने कहा कि वह केवल पहरावर गांव की जमीन की बात नहीं कर रहे बल्कि वह कह रहे हैं कि जिस भी समाज से जुड़ा कोई निर्माण होना है, तो वह सरकार ही करवाएं।

सीएम की नीयत में फर्क

अरविंद शर्मा बोले, ‘मैंने पहले भी कहा है कि देश को नरेंद्र मोदी के नेतृत्व की जरुरत है। देश को भारतीय जनता पार्टी की भी जरुरत है। पार्टी को अभी देश के लिए बहुत से काम करने हैं। यह मेरी पांचवीं प्रेस कांफ्रेंस है और मैं हर सवाल का स्पष्ट जवाब दे चुका हूं। मुझे किसी से दिक्कत नहीं है। मगर व्यवस्था से परेशानी हो रही है। वर्ष 2018 में सीएम ने ऐलान किया था कि पहरावर गांव की जमीन लोगों को मिल जाएगी। मगर कहीं न कहीं नीयत में फर्क है। कहीं न कहीं द्वेष की भावना है जो अभी तक जमीन नहीं दी गई।’

मेरी कोई नाजायज मांग नहीं कि इस्तीफा दूं

भाजपा सांसद ने कहा, ‘हरियाणा में एजुकेशन का ऐसा सिस्टम बना है कि यहां पूरे देश से बच्चे पढ़ने आते हैं। रोहतक IIM में देशभर से स्टूडेंट आते हैं। मैं जनता के आशीार्वाद से चौथी बार सांसद बना हूं। पानीपत की जनता का हमेशा मुझे समर्थन मिला है। हरियाणा को बने 56 साल हो चुके हैं। इसके पहले CM पंडित भगवत दयाल थे। जब हरियाणा पंजाब के साथ था, तब भी यहां का पहला सीएम ब्राह्मण था। पंजाब से अलग हुआ तो भी हरियाणा का पहला सीएम ब्राह्मण था। मेरी सोच है कि हर चीज से ऊपर उठकर काम करने चाहिए। हर बिरादरी में सक्षम लोग हैं। सभी को मौका मिलना चाहिए। सभी राजनेताओं को खुद को जनता का सेवक मानना चाहिए। मेरी सरकार से कोई नाजायज मांग नहीं है जो पूरी न हो सके। न ही ऐसा है कि मुझे पार्टी से इस्तीफा देना पड़े।’

अरविंद शर्मा ने कहा कि हरियाणा में बेशक गठबंधन की सरकार है लेकिन पार्टी ने निकाय चुनाव अलग लड़ने का फैसला लिया है। इससे सरकार पर कोई फर्क नहीं पड़ेगा।

खबरें और भी हैं…

Source link

Related Articles

Back to top button